बीटेक प्रोग्राम

बी.टेक (इलेक्ट्रॉनिकी प्रणाली इंजीनियरी)

नाइलिट औरंगाबाद बी.टेक कार्यक्रम चलाता है। यह एआईसीटीई, नई दिल्ली द्वारा अनुमोदित चार वर्ष (आठ सेमेस्टर) का पाठ्यक्रम है। डिग्री डॉ. बाबासाहेब आम्बेडकर मराठवाड़ा विश्वविद्यालय, औरंगाबाद (महाराष्ट्र) द्वारा प्रदान की जाती है।  

पात्रता

किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से अनिवार्य विषयों के रूप में भौतिकी, गणित, रसायन विज्ञान/जैव-प्रौद्योगिकी/जीव विज्ञान/ तकनीकी वोकेशनल विषयों के साथ उक्त विषयों पर कुल मिलाकर कम से कम 45% अंकों (अनुसूचित जाति/जनजाति श्रेणी के विद्यार्थियों के मामले में 40%) से 12वीं कक्षा पास।   

बी.टेक में दाखिला के लिए आरक्षण की सीट मैट्रिक्स

साधारण/ओपन ओपीपीडब्ल्यूडी ओबीसी ओबीसीपीडब्ल्यूडी अनु.जा. अनु.ज.जा. कुल

29

01

15

01

09

05

60

पीडब्ल्यूडी अधिनियम के अनुसार “अशक्त व्यक्तियों” के कोटे के अन्तर्गत चुने गए विद्यार्थी संबधित श्रेणी में क्षैतिज आरक्षण का लाभ प्राप्त कर सकते हैं जो अनुसूचित जाति/जनजाति/अन्य पिछड़ा वर्ग की श्रेणियों के आरक्षण के लिए तैयार रोस्टर के अनुसार 3% (जिसे 2 सीटों तक रखा जाएगा) तक सीमित होगा।

सीटों का आरक्षण भारत सरकार के नियमों एवं दिशा-निर्देशों, एआईसीटीई तथा/अथवा डॉ. बी.ए.एम. विश्वविद्यालय के अनुमोदन के अनुसार किया जाता है।

बी.टेक पाठ्यक्रम विवरणिका डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

दाखिले की प्रक्रिया

  • दाखिला जेईई मेन्स तथा जेओएसएए (संयुक्त सीट आबंटन प्राधिकारी) के आधार पर होगा। अधिक विवरण के लिए  www.josaa.nic.in देखें।
  • 3 वर्षीय डिप्लोमा धारी इंजीनियरी विद्यार्थियों का बी.टेक द्वितीय वर्ष के लिए चयन (पार्श्व प्रवेश 12 सीटें + रिक्त सीटों उपलब्ध होने पर) तकनीकी शिक्षा निदेशालय (डीटीई) द्वारा सीएपी राउण्ड के माध्यम से किया जाएगा। चयन कोड 203157110 है। इच्छुक विद्यार्थी वेबसाइट to  www.dtemaharashtra.gov.in देख सकते हैं।  इस वेबसाइट को अद्यतन स्थिति के लिए नियमित आधार पर देखें। 

अन्तर्राष्ट्रीय आवेदक (विदेशी नागरिक):

कुल सीटें :09 

विदेशी नागरिकों के लिए सीटों का आरक्षण भारत सरकार के नियमों तथा विश्वविद्यालय के अनुमोदन के अनुसार किया जाता है। विदेशी नागरिकों का दाखिला भारत सरकार द्वारा समय-समय पर निर्धारित दिशा-निर्देशों के अधीन किया जाता है। विदेशी नागरिक बी.टेक पाठ्यक्रम में दाखिला के लिए न्यूनतम अर्हता की अपेक्षाओं को पूरा करने पर उचित माध्यम से आवेदन कर सकते हैं। लेकिन उनके आवेदनों पर विचार पहले आओ पहले पाओ के आधार पर अलग से किया जाएगा।

 अध्यापन एवं मूल्यांकन योजना 

Hindi