Error message

Warning: Creating default object from empty value in ctools_access_get_loggedin_context() (line 1411 of /var/www/html/sites/all/modules/ctools/includes/context.inc).

प्रस्तावना

चेन्नै स्थित नाइलिट केन्द्र का विकास एक उन्नत प्रशिक्षण एवं विकास केन्द्र के रूप में भी किया जा रहा है जिसमें आईईसीटी की प्रौद्योगिकियों जैसे कि वीएलएसआई डिजाइन, अन्तर्निर्मित प्रणाली, नेटवर्किंग, सूचना सुरक्षा और ई-अधिगम/मल्टीमीडिया एनिमेशन जैसे सूचना प्रौद्योगिकी अनुप्रयोगों पर विशेष जोर देते हुए अद्यतन तकनीकी जानकारी की सुविधाएँ उपलब्ध होंगी।

इससे इंजीनियरी महाविद्यालयों तथा विज्ञान महाविद्यालयों के उत्तीर्ण होने वाले विद्यार्थियों को अपनी मूलभूत अर्हता के मान में अभिवृद्धि करने में सहायता मिलेगी जिससे उनकी तत्काल रोजगारयोग्यता की स्थिति में सुधार होगा। प्रोफेशनल तथा शिक्षक समुदाय आईईसीटी के उदीयमान क्षेत्रों में अपने ज्ञान का दर्जा बढ़ा सकेंगे। इसके अलावा, यह केन्द्र सूचना, इलेक्ट्रॉनिकी एवं संचार प्रौद्योगिकी (आईईसीटी) के क्षेत्र में सेवाओं तथा विकास से संबंधित कार्य भी शुरू करेगा।

महत्वपूर्ण क्षेत्र :

  • अन्तर्निर्मित प्रणालियाँ, प्रणाली डिजाइन तथा वीएलएसआई
  • सूचना प्रौद्योगिकी
  • सूचना प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग

फिनिशिंग स्कूल की तर्ज पर कार्य करने के लिए प्रौद्योगिकी के आला क्षेत्रों में अद्यतन तकनीकी जानकारी की मूलसंरचना का सृजन किया जा रहा है जिससे रोजगार योग्यता एवं उत्पादकता में अभिवृद्धि करने के प्रयोजन से नए उत्तीर्ण विद्यार्थियों तथा कार्यरत प्रोफेशनलों की कुशलता के स्तर को बढ़ाया जा सके।

सम्पर्क/पारस्परिक चर्चा :

अनुप्रयोग उन्मुखी अल्पावधि पाठ्यक्रम आयोजित करने के अलावा, वीएलएसआई इंजीनियरी, डिजाइन स्वचालन तथा अन्तर्निर्मित प्रणाली इंजीनियरी के क्षेत्र में प्रशिक्षण तथा अनुसंधान एवं विकास परामर्श-सेवाएँ चलाने के लिए यह केन्द्र उद्योग तथा विश्वविद्यालयों के साथ संयुक्त उपक्रम करने की भी तैयारी कर रहा है जिससे एक ब्रांड इक्विटी तैयार होगी और शैक्षिक जगत में इसका एक परिचय बनेगा।

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान के साथ सम्पर्क तैयार किए जा रहे हैं और उद्योग, सरकार तथा आईईसीटी के क्षेत्र में अन्य सेवा प्रदाताओं के अतिरिक्त क्षेत्र के अन्य भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों, अन्ना विश्वविद्यालय, मद्रास प्रौद्योगिकी संस्थान, एनटीटीआर, तमिलनाडु विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी केन्द्र आदि, पुडुचेरी इंजीनियरी महाविद्यालय के साथ भी सम्पर्क तैयार करने का प्रस्ताव है।

श्रेष्ठता :

  • अद्यतन तकनीकी जानकारी की मूलसंरचना
  • अनुकूल स्थापना स्थल एवं परिवेश
  • मान संवर्धन, अधिक रोजगार के अवसर
  • अनुप्रयोग उन्मुखी, अंशकालीन, विशेष रूप में निर्मित तथा माडुलर पाठ्यक्रम
  • कार्पोरेट प्रशिक्षण
  • चल रहे अध्ययन तथा राष्ट्रीय स्तर के प्रमाणन के साथ-साथ आईईसीटी में पाठ्यक्रम
  • उद्योग एवं शैक्षिक संस्थान द्वारा विविक्षित पाठ्यचर्या तथा गुणवत्तापूर्ण पाठ्यक्रम सामग्री
  • योजनाओं के लिए केन्द्रीय रूप में परीक्षा एवं प्रमाणन
  • जनसामान्य के लिए कम कीमत पर अच्छी क्वालिटी का शिक्षण

शैक्षिक सेवाओं के क्षेत्र

  • सिमुलेशन/वीएलएसआई डिजाइन
  • अन्तर्निर्मित प्रणाली डिजाइन
  • उन्नत नेटवर्किंग
  • सूचना सुरक्षा
  • उन्नत प्रोग्रामिंग
  • मल्टीमीडिया एवं एनिमेशन
  • कैड/कैम
  • ई-अधिगम
  • मुक्त स्रोत प्रौद्योगिकियाँ

इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद डिजाइन एवं उत्पादन प्रौद्योगिकी (ईपीडीपीटी) परियोजना के क्षेत्रों में क्षमता निर्माण

(नाइलिट चेन्नै, नाइलिट औरंगाबाद तथा सी-डैक हैदराबाद के माध्यम से)

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार ने ‘इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद डिजाइन एवं उत्पादन प्रौद्योगिकी (ईपीडीपीटी) के क्षेत्रों में क्षमता निर्माण’ नामक एक परियोजना आरम्भ की है, जिसका कार्यान्वयन इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद डिजाइन एवं उत्पादन प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में जनशक्ति विकास, कम कीमत वाले इलेक्ट्रॉनिकी डिजाइन, अनुसंधान एवं विकास तथा औद्योगिक सेवाओं को बढ़ावा देने के कार्य करने के लिए नाइलिट औरंगाबाद, नाइलिट चेन्नै तथा सी-डैक हैदराबाद द्वारा किया जा रहा है। वर्तमान उपक्रम में, आईएसईए परियोजना तथा एसएमडीपी I एवं II परियोजना को ढाँचों को एक प्रतिमान के रूप में लिया गया है जिससे अच्छी क्वालिटी की जनशक्ति संयुक्त रूप में तैयार करने के प्रयोजन से तत्कालीन सीईडीटी – नाइलिट औरंगाबाद को स्रोत केन्द्र (आरसी) बनाया जा सके जो प्रतिभागी संस्थानों (पीआई) के रूप में सी-डैक हैदराबाद तथा नाइलिट चेन्नै के उपदेशक के रूप कार्य करेगा।

विभिन्न स्तरों पर अच्छी क्वालिटी का मानव संसाधन तैयार करने के उद्देश्य से, केन्द्र ने विभिन्न औपचारिक तथा अनौपचारिक कार्यक्रम आरम्भ किए हैं। इस दिशा में, नाइलिट औरंगाबाद ने डॉ. बी.ए.एम. विश्वविद्यालय से संबद्ध होकर वर्ष 2013-14 से इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद डिजाइन (ईपीडी) में एम.टेक (अंशकालीन) कार्यक्रम आरम्भ किया है। शैक्षिक वर्ष 2015-16 से, नाइलिट चेन्नै तथा सी-डैक हैदराबाद ने एससीएसवीएमवी विश्वविद्यालय, कांचीपुरम, तमिलनाडु के सहयोग से इलेक्ट्रॉनिक डिजाइन प्रौद्योगिकी में एम.टेक (पूर्ण कालीन) कार्यक्रम आरम्भ किया है। नाइलिट औरंगाबाद ने डॉ. बी.ए.एम. विश्वविद्यालय से संबद्ध होकर बी.टेक (पूर्ण कालीन) कार्यक्रम भी शुरू किया है। शैक्षिक संस्थानों तथा उद्योग के बीच अन्तराल को दूर करने के उद्देश्य से, केन्द्रों ने विभिन्न माडुलर (6 सप्ताह) तथा छह महीने के स्नातकोत्तर डिप्लोमा कार्यक्रम आरम्भ किए हैं। इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद डिजाइन, अन्तर्निर्मित प्रणाली डिजाइन, इलेक्ट्रॉनिक पैकेजिंग, वायरलेस अन्तर्निर्मित प्रणालियाँ आदि पर ये पाठ्यक्रम उद्योग, उद्योग संघ तथा प्रतिष्ठित शिक्षाविदों के विशेषज्ञों के दिशा-निर्देश में तैयार किए गए है, और सफलतापूर्वक चलाए जा रहे हैं। 

Hindi