Error message

  • Warning: Creating default object from empty value in ctools_access_get_loggedin_context() (line 1411 of /var/www/html/sites/all/modules/ctools/includes/context.inc).
  • Warning: Creating default object from empty value in ctools_access_get_loggedin_context() (line 1411 of /var/www/html/sites/all/modules/ctools/includes/context.inc).

बी स्तर के लिए परियोजना संबंधी दिशा-निर्देश

  • बी स्तर पहली परियोजना (परियाजना – I)

‘बी’ स्तर पाठ्यक्रम की पहली परियोजना ‘ए’ स्तर की परियोजना के समान है और ‘ए’ स्तर की परियोजना के तरह ही पूरी की जानी है। अतः ‘बी’ स्तर की पहली परियोजना के परियोजना प्रस्तुतीकरण या परियोजना मूल्यांकन संबंधी मानदण्ड ‘ए’ स्तर की परियोजना – I  के समान ही होगा।

  • बी स्तर दूसरी परियोजना/मिनी परियोजना/सेमीनार

बी’ स्तर की पाठ्यचर्या के संशोधन VI में ‘बी’ स्तर की दूसरी परियोजना/मिनी परियोजना/सेमीनार लागू की गई है। ‘बी’ स्तर के विद्यार्थियों से अद्यतन विषयों के विभिन्न सेमीनारों में भाग लेने की अपेक्षा है। सेमीनारों के आयोजन अथवा प्रतिभागिता के माध्यम से वे अपने विचारों को दूसरों को समझा सकते हैं। विषय से संबंधित सेमीनारों से उन्हें विषय को अधिक प्रभावी रूप में समझने में सहायता मिलेगी। यह उन्हें दिए गए विषय पर अधिकाधिक सूचना एकत्रित करने का अवसर प्रदान करेगा। इसके फलस्वरूप, वे विषय को अच्छी तरह सीख सकेगे। 

बी स्तर की दूसरी परियोजना/मिनी परियोजना/सेमीनार के लिए पात्रता की शर्तें तथा प्रारूप

नाइलिट ‘बी’ स्तर की परीक्षा के सेमेस्टर V के सभी माड्यूलों में बैठने के बाद परियोजना पूरी होने का प्रमाण-पत्र तथा मूल्यांकन के अंको की रिपोर्ट ( अनुबध - IV  ( डॉक प्रारूप   पीडीएफ प्रारूप ) प्रस्तुत की जानी है।  

बी स्तर की मिनी परियोजना/सेमीनार की प्रस्तुति से संबंधित दिशा-निर्देश

विद्यार्थी द्वारा परियोजना का कार्य संबंधित संस्थान/संगठन के शिक्षकों तथा प्रबंध वर्ग के मार्गदर्शन एवं सहायता से किया जाएगा। यह परियोजना अथवा सेमीनार बी’ स्तर के B5.1-R4, B5.2-R4, B5.3-R4, तथा BE1-R4 से BE12-R4 की पाठ्यचर्या पर आधारित होगा।   

सम्पर्क के ब्यौरे

यदि किसी अन्य जानकारी की आवश्यकता हो तो कृपया  projects@nielit.in अथवा  011-24364335 पर हमारे साथ सम्पर्क करें।

  • बी स्तर तीसरी परियोजना/अन्तिम परियोजना (परियोजना – III)

इस शैक्षिक स्तर पर, सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र मे किसी विद्यार्थी की प्रवीणता का परीक्षण करने के लिए परियोजना बहुत महत्वपूर्ण है और यह किसी परियोजना/प्रणाली विकास का कार्य स्वतंत्र रूप में करने मे उसकी क्षमता का मूल्यांकन करती है। ‘बी’ स्तर के सभी विद्यार्थियों के लिए सोसायटी से परियोजना के सार का अनुमोदन प्राप्त करना आवश्यक है। सोसायटी से अनुमोदन प्राप्त करने के उपरान्त ही परियोजना का कार्य शुरू किया जाएगा।   

बी स्तर की अन्तिम परियोजना प्रस्तुत करने से संबंधित पात्रता की शर्तें

कम से कम प्रथम 15 पेपरों को पूरा कर लेने तथा ‘बी’ स्तर के पाठ्यक्रम के चौथे सेमेस्टर के शेष पेपरों की परीक्षा मे बैठने के बाद ही अन्तिम परियोजना शुरू की जा सकती है। सीधे विद्यार्थियों द्वारा परियोजना पाँचवें सेमेस्टर के अन्तिम पेपर की परीक्षा में बैठने के बाद और प्रत्यायित संस्थानों के विद्यार्थियों द्वारा छठे सेमेस्टर की परीक्षा में बैठने के बाद प्रस्तुत की जा सकती है। 

परियोजना कार्य की प्रामाणिकता

यह एक मौलिक, वास्तविक जीवन मान का कार्य होना चाहिए तथा किसी स्रोत की विद्यमान सामग्री से नकल नहीं की गई होनी चाहिए और इस आशय का प्रमाण-पत्र पर्यवेक्षक/गाइड के विधिवत प्रतिहस्ताक्षर सहित परियोजना के साथ प्रस्तुत किया जाएगा।  .

बी स्तर की अन्तिम परियोजना प्रस्तुत करने की पद्धति

विद्यार्थी अपनी परियोजना रिपोर्ट अपेक्षित फीस के साथ निर्धारित प्रारूप में प्रस्तुत करेगा। परियोजना रिपोर्ट में निम्नलिखित शामिल होंगे :

  1.  परियोजना रिपोर्ट की एक हार्ड कॉपी
  2. परियोजना रिपोर्ट की एक सॉफ्ट कॉपी
  3. परियोजना रिपोर्ट में लगभग 50 पृष्ठ होगे (कोडिंग को छोड़कर)

अन्तिम परियोजना रिपोर्ट तैयार करते समय निम्नलिखित सुझाए गए दिशा-निर्देशों का अनुपालन किया जाए:

  1. टाइपिंग तथा डुप्लिकेशन के लिए ए4 आकार के अच्छी क्वालिटी के सफेद एक्जीक्यूटिव बॉण्ड पेपर का इस्तेमाल किया जाएगा। प्रतियों की डुप्लिकेटिंग के समय कोई दाग लगने से बचाने का प्रयास किया जाना चाहिए।
  2. पृष्ठ का वर्णन (लिखित पेपर एवं स्रोत कोड)
  • बायाँ मार्जिन        -       3.0 सेमी.
  • दाहिना मार्जिन    -       3.0 सेमी.
  • ऊपर मार्जिन       -       2.7 सेमी.
  • नीचे मार्जिन        -       2.7 सेमी.
  1. पृष्ठ संख्या – पाठ के सभी पृष्ठों तथा प्रोग्राम स्रोत कोड की सूची पर पृष्ठ संख्या पृष्ठ के नीचे मध्य भाग मे दी जाएगी।

परियोजना फीस ‘बी’ अन्तिम स्तर

नाइलिट को 3000/- रु. (तीन हजार रुपए मात्र) की फीस का भुगतान नई दिल्ली में नाइलिट के पक्ष में देय डिमाण्ड ड्राफ्ट के जरिए किया जाएगा।

परियोजना रिपोर्ट प्रस्तुत करने से संबंधित दिशा-निर्देश

क) बी स्तर की अन्तिम परियोजना के लिए पर्यवेक्षक/गाइड

पर्यवेक्षक/गाइड उस क्षेत्र का एक प्रतिष्ठित व्यक्ति होना चाहिए जिसमें विद्यार्थी ने परियोजना का चयन किया है। प्रत्यायित पाठ्यक्रम चलाने वाले संस्थानों के विद्यार्थियों के मामले में, पर्यवेक्षक/गाइड के मनोनयन सहित सभी सहायता संबंधित संस्थान द्वारा प्रदान की जाएगी। सीधे विद्यार्थियों के मामले में, विद्यार्थी यह सुनिश्चित करेगा कि संगठन (जहाँ वह परियोजना का कार्य करना चाहता है) में समुचित सुविधाएँ उपलब्ध हों और उन्हे उपलब्ध कराए जाएँ। ‘बी’ स्तर की अन्तिम परियोजना का गाइड एक ऐसा व्यक्ति होना चाहिए जिसके पास एमसीए/बी.टेक/एम.एस.सी (सीएस)/एम.टेक (सीएस)/’सी’ स्तर की अर्हता सहित सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में 5 वर्षों का अनुभव हो।

ख) बी स्तर की अन्तिम परियोजना का प्रारूप

            1. परियोजना का आवरण पृष्ठ अनुबंध - III  पर दिए गए प्रारूप में  (डॉक प्रारूप     पीडीएफ प्रारूप)

            2. जिस प्रत्यायित संस्थान से विद्यार्थी ने प्रशिक्षण प्राप्त किया है वहाँ से अथवा जिस संगठन में विद्यार्थी ने परियोजना का कार्य किया है वहाँ से अभिस्वीकृति

3. परियोजना गाइड/केन्द्र प्रबंधक (प्रत्यायित संस्थान के विद्यार्थियों के मामले में) अथवा कम्पनी/संगठन (सीधे विद्यार्थियों के मामले में) से परियोजना पूरी होने के प्रमाण-पत्र। प्रारूप अनुबंध - II  मे दिया गया है (डॉक प्रारूप     पीडीएफ प्रारूप)

4. मुख्य रिपोर्ट में निम्नलिखित शामिल होने चाहिएँ :

क) उद्देश्य एवं परियोजना का क्षेत्र

ख) सैद्धान्तिक पृष्ठभूमि

ग) समस्या की परिभाषा

घ) प्रणाली विश्लेषण एवं डिजाइन तथा प्रयोक्ता की आवश्यकताएँ

ङ) प्रणाली आयोजना (पर्ट चार्ट)

च) अपनाई गई कार्यपद्धति, प्रणाली कार्यान्वयन तथा प्रयोग में लाए गए हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर

छ) प्रणाली अनुरक्षण एवं मूल्यांकन

ज) लागत एवं लाभ विश्लेषण

झ) परियोजना का विस्तृत जीवन चक्र

ञ) ईआरडी, डीएफडी

ट) इनपुट तथा आउटपुट स्क्रीन डिजाइन

ठ) शामिल प्रक्रिया

ड) परीक्षण के लिए प्रयुक्त कार्यपद्धति

ढ) परीक्षण रिपोर्ट, रिपोर्ट का प्रिंट आउट, कोड शीट का प्रिट आउट

ण) प्रयोक्ता/प्रचालन मैनुअल – सुरक्षा पहलू, अभिगम अधिकार, बैक अप, नियंत्रण आदि सहित।

ग)  बी स्तर की अन्तिम परियोजना के साथ प्रस्तुत किए जाने वाले दस्तावेज

1. परियोजना गाइड/केन्द्र प्रबंधक (प्रत्यायित संस्थान के विद्यार्थियों के मामले में) अथवा परियोजना गाइड (सीधे विद्यार्थियों के मामले में) द्वारा हस्ताक्षरित परियोजना पूरी होने के प्रमाण-पत्र (अनुबंध – II ) (डॉक प्रारूप  पीडीएफ प्रारूप)

2. अनुमोदित सार की मूल प्रति

3. सार के अनुमोदन के परिणाम की प्रतिलिपि

4. परियोजना रिपोर्ट की हार्ड कॉपी

5. परियोजना रिपोर्ट की सॉफ्ट कॉपी जिसकी आवश्यकता परियोजना कार्य के प्रदर्शन के समय हो सकती है, जिसकी व्यवस्था विद्यार्थी द्वारा मौखिक परीक्षा के समय करनी होगी।

घ) बी स्तर की अन्तिम परियोजना के साथ प्रस्तुत किए जाने वाले अन्य दस्तावेज

1. जिस संगठन में विद्यार्थी ने परियोजना का विकास किया है उसकी पृष्ठभूमि संबंधित संक्षिप्त जानकारी।

2. डेटा शब्दकोश

इसमें विकसित प्रणाली/उप प्रणाली में प्रयुक्त डेटा तत्वों की सूची दी जाएगी। निम्नलिखित विवरण आवश्यक हैं। यदि लागू नहीं है तो ‘लागू नहीं’ लिखें :

डेटा का नाम, उप नाम, यदि कोई हो, लम्बाई (आकार), किस्म (टाइप, अल्फा, द्वि-आधारी आदि)

   3. संक्षिप्ताक्षरों, चित्रों, तालिकाओं की सूची

4. संदर्भ

  • ग्रंथ सूची
  • वेबसाइट

5. सीडी/फ्लॉपी में परियोजना की सॉफ्ट कॉपी

सम्पर्क के ब्यौरे

यदि किसी अन्य जानकारी की आवश्यकता हो तो कृपया  projects@nielit.in अथवा  011-24364335 पर हमारे साथ सम्पर्क करें।

Hindi